आज हनुमान अष्टमी की दिन जो पूजा करेगा उसका हर संकट का अंत हो जाएगा|

0
142

आज हनुमान अष्टमी के दिन जो पूजा करेगा उसके हर संकट का अंत हो जाएगा।

धर्म ग्रंथों के अनुसार, पौष मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी का हो हनुमान अष्टमी का पर्व मनाया जाता है। हनुमान अष्टमी को विजय पर्व के रूप में भी मनाया जाता है। भगवान हनुमान का जन्म झारखंड के गुमला नाम जिले के उत्तरी क्षेत्र में हुआ था। मान्यता है कि जो भक्त इस खास अवसर पर हनुमान जी के दर्शन और उनकी पूजा अर्चना करता करता है उसकी हर मनोकामना पूरी होती है। हनुमानजी के पराक्रम से प्रसन्न होकर भगवान राम ने उन्हें आशीर्वाद दिया कि आज के दिन को अनुमान अष्टमी के रूप में मनाया जाएगा।

Hanuman
Hanuman

हनुमान चालीसा और बजरंग बाण का पाठ

हनुमान जी ब्रह्मचारी थे, लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि वो एक पुत्र के पिता बने थे हालांकि यह पुत्र वीर्य कि जगह पसीने की बूंद से हुआ था। हनुमान जी के पुत्र मकरध्वज भी उनके समान ही महान पराक्रमी और तेजस्वी थे। उन्हें अहिरावण द्वारा पाताल लोक का द्वार पाल नियुक्त किया गया था। कहते हैं इस दिन हनुमान मंदिर जाकर हनुमान चालीसा और बजरंग बाण का पाठ करने वाले भक्तों को सभी सुख मिलते हैं और धन की प्राप्ति होती है। ऐसे लोगों को किसी भी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होती और उनकी किस्मत का सितारा चमक जाता है।

लार्ड हनुमान
लार्ड हनुमान

और पढ़ें: Famous Temples of India – Namakkal Hunuman

हनुमान जी के 12 नाम

इस दिन अगर आप हनुमान जी के इन 12 नामों का जप करते है तो ये आपके लिए लाभदायक हो सकता है। हनुमानजी के 12 नामों का जाप करने से ही आपकी सोई किस्मत भी जागती है।

हनुमान्, अंजनीसुत, वायुपुत्र, महाबल, रामेष्ट, फाल्गुनसख, पिंगाक्ष, अतिविक्रम, उदधिक्रमण, चैव सीताशोकविनाशन, लक्ष्मण-प्राणदाता व् दशग्रीवस्यदर्पहा|

राम भक्त हनुमान
राम भक्त हनुमान

हनुमान मंत्र:

जब मनुष्य चौतरफा संकटों से घिर जाता है और उनसे निकलने का रास्ता तलाशने में वह विफल हो जाता है तब हनुमान जी के इस मंत्र जाप से बहुत लाभ मिलता है।

आदिदेव नमस्तुभ्यं सप्तसप्ते दिवाकर!
त्वं रवे तारय स्वास्मानस्मात्संसार सागरात||

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here